Categories
Uncategorized

Miss You Shayari

Miss You Shayari! Hi friends, I have collected some new Miss You Shayari. Miss You Shayari has been published. So check the latest Miss You Shayari and share it with your lovely friends. Read it and enjoy it.so you can hare it with your all lovely friends. Its give smile and happiness to everyone face. Laughter is the way to make smile on everyone’ s face. Laughter is the best medicine for our health. Be happy and keep laughing…
Share kro jisse aap baat krte ho or jisse nhi krte…

Dil ke sagar me lehre uthaya na
karo,
khwab bankar neend churaya na
karo,
bahot chot lagti hai mere dil ko,
tum khwabo mein aa kar yu tadpaya
na karo..

Kabhi Unki Yaad Aati Hai Kabhi Unake Khwaab Aate Hain,
Mujhe Satane Ke Saleeke… To Unhen Behisaab Aate Hain.

Bahat Hi Yaad Aata Hai Mere Dil Ko Tarpata Hai,
Wo Tera Paas Na Hona Mujh Ko Bahut Rulata Hai.

Wo Kya Jaane, Yaadon Ki Keemat,
Jo Khud Yaadon Ko Mita Diya Karte Hain,
Yaado Ka Matlab To Unse Poochho Jo,
Yaadon Ke Sahare Jiya Karte Hain.

Miss You Shayari

Suno Tum Apni Yaado Ko Samajha Lo Jara
Mujhe Tang Karti Hain Ek Karjadaar Ki Tarah.

Tu Dekh Sakta Kash Rat Ke Pahre Me Mujhko,
Kitni Bedardi Se Teri Yaad Meri Neend Chura Leti Hai.

Kitni Hansi Si Ho Jaati Hai Us Waqt Duniya,
Jab Apna Koi Kahta Hai Tum Yaad Aa Rahe Ho.

Dil Ki Halat Kisi Se Kahi Nahin Jati,
Hamse Unki Chahat Chhupai Nahin Jati,
Bas Ek Yaad Bachi Hai Unke Chale Jane Ke Baad,
Wo Yaad Bhi Dil Se Mitayi Nahin Jati.

ये तो ज़मीन की फितरत है की,
वो हर चीज़ को मिटा देती हे वरना,
तेरी याद में गिरने वाले आंसुओं का,
अलग समंदर होता।

प्यार करो तो मुस्कुरा के,
किसी को धोखा न देना अपना बना के,
कर लो याद जब तक हम जिंदा हैं,
वर्ना ये मत कहना,
छोड़ गये दिल में यादे बसा के।

Miss You Shayari

उम्र की राह में रास्ते बदल जाते हैं,
वक़्त की आंधी में इंसान बदल जाते हैं,
सोचते हैं तुम्हें इतना याद ना करें लेकिन,
आँख बंद करते ही इरादे बदल जाते हैं।

जाने क्या था जाने क्या है जो मुझसे छूट रहा है,
यादें कंकर फेंक रही हैं और दिल अंदर से टूट रहा है।

ज़ख्म देने की आदत नहीं हमको,
हम तो आज भी वो एह्सास रखते हैं,
बदले-बदले तो आप हैं जनाब,
हमारे आलावा सबको याद रखते हैं।

मेरा इल्ज़ाम है तुझ पर कि तू बेवफा था,
दोष तो तेरा था मगर तू हमेशा ही खफा था,
ज़िन्दगी की इस किताब में बयान है तेरी मेरी कहानी,
यादों से सराबोर उसका एक एक सफा था।

Sochta Hoon Ki Apne Saare Armaan Bhej Doon,
Duaon Mein Apni Tumhara Naam Bhej Doon,
Din Khila Aur Dil Ko Tum Yaad Aaye,
To Socha Ki Pyara Sa Salaam Bhej Doon.

मैंने रंग दिया हर पन्ना तेरी यादों से,
मेरी किताबो से पूछ इश्क किसे कहते हैं।

उसकी याद आई है साँसों जरा अहिस्ता चलो,
धड़कनों से भी इबादत में खलल पड़ता है।

नहीं है कुछ भी मेरे दिल में सिवा उसके,
मैं उसे अगर भुला दूँ तो याद क्या रखूँ।

Kuchh Khubsurat Palon Ki Mahek Si Hain Teri Yaadein,
Sukoon Yeh Bhi Hai Ki Ye Kabhi Murjhati Nahi Hain.

अहसास मिटा,तलाश मिटी, मिट गई उम्मीदें भी,
सब मिट गया पर जो न मिट सका वो है यादें तेरी।

कभी याद आती है कभी उनके ख्वाब आते हैं,
मुझे सताने के सलीके तो उन्हें बेहिसाब आते हैं।

बैठे थे अपनी मस्ती में कि अचानक तड़प उठे,
आ कर तुम्हारी याद ने अच्छा नहीं किया।

याद करेंगे तो दिन से रात हो जायेगी,
आईने को देखिये हमसे बात हो जायेगी,
शिकवा न करिए हमसे मिलने का,
आँखे बंद कीजिये मुलाकात हो जायेगी।

इतना न याद आओ कि खुद को तुम समझ बैठूं,
मुझे अहसास रहने दो मेरी अपनी भी हस्ती है।

तुझे याद करना न करना अब मेरे बस में कहाँ
दिल को आदत है हर धड़कन पे तेरा नाम लेने की।

जिससे चाहा था बिखरने से बचा ले मुझको,
कर गया तेज हवाओं के हवाले मुझ को,
मैं वो बुत हूँ कि तेरी याद मुझे पूजती है,
फिर भी डर है ये कहीं तोड़ न डाले मुझको।

खुशबू की तरह आया वो तेज हवाओं में,
माँगा था जिसे हमने दिन रात दुआओं में,
तुम छत पे नहीं आये मैं घर से नहीं निकला,
ये चाँद बहुत भटका सावन की घटाओं में।

Bahut Mushkil Se Karte Hain Teri Yaadon Ka Kaarobar,
Munafa Kam Hi Sahi Magar Gujara Ho Hi Jaata Hai.

अगर आँसू बहा लेने से यादें बह जाती,
तो एक ही दिन में हम तेरी याद मिटा देते।

किस जगह रख दूँ मैं तेरी याद के चराग़ को,
कि रोशन भी रहूँ और हथेली भी ना जले।

आज यह कैसी उदासी छाई है,
तन्हाई के बादल से भीगी जुदाई है,
टूट के रोया है फिर मेरा दिल,
जाने आज किसकी याद आई है।

अब ये भी नहीं ठीक कि हर दर्द मिटा दें,
कुछ दर्द तो कलेजे से लगाने के लिए हैं।
यह इल्म का सौदा, ये रिसाले, ये किताबें,
इक शख्स की यादों को भुलाने के लिए है।

अब उदास होना भी अच्छा लगता है,
किसी का पास न होना भी अच्छा लगता है,
मैं दूर रह कर भी किसी की यादों में हूँ,
ये एहसास होना भी अच्छा लगता है।

अब बुझा दो ये सिसकते हुए यादों के चराग,
इनसे कब हिज्र की रातों में उजाला होगा।

खुल जाता है तेरी यादों का बाज़ार सरेआम,
फिर मेरी रात इसी रौनक में गुज़र जाती है।

अब कर के फरामोश तो नाशाद करोगे,
पर हम जो न होंगे तो बहुत याद करोगे।

प्यार की दास्तां जब भी वक्त दोहरायेगा,
हमें भी एक शख्स बहुत याद आयेगा,
जब उसके साथ बिताये लम्हें याद आयेंगे,
आँखें नम हो जाएँगी दिल आंसू बहायेगा।

यादों की कीमत वो क्या जाने,
जो किसी को यूँ ही भुला देते हैं,
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
यादों के सहारे जिया करते हैं।

वो सिलसिले वो शौक वो ग़ुरबत न रही,
फिर यूँ हुआ के दर्द में शिद्दत न रही,
अपनी जिंदगी में हो गए मसरूफ वो इतना,
कि हम को याद करने की फुर्सत न रही।

Miss You Shayari

कर रहा था ग़म-ए-जहाँ का हिसाब,
आज तुम याद आये तो बेहिसाब आये।

क्यूँ करते हो मेरे दिल पर इतना सितम?
याद करते नहीं, तो याद आते ही क्यूँ हो।

बिछड़ी हुई राहों से जो गुजरे हम कभी,
हर मोड़ पर खोयी हुई एक याद मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *