Categories
Uncategorized

Mahakal Status

Mahakal Status! Hello friends, I got some new collection Mahakal Status. Mahakal status has been published. So check it and share it with your family members and other friends.

जो समय की चाल हैं, अपने भक्तों की ढाल हैं,
पल में बदल दे सृष्टि को, वो महाकाल हैं।

गरज उठे गगन सारा, समंदर छोड़े अपना किनारा,
हिल जाये जहान सारा, जब गूंजे महाकाल का नारा।

गांजे मे गंगा बसी, चीलम में चार धाम,
कंकर मे शंकर बसे, और जग में महाकाल।।

वह अकेले ही पुरी दुनिया में मुर्दे कि भस्म से नहाते हैं,
ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते हैं।

झुकता नही शिव भक्त किसी के आगे,
वो काल भी क्या करेगा महाकाल के आगे।

ना मैं उच नीच में रहूँ ना ही जात पात में रहूँ,
महाकाल आप मेरे दिल में रहे, और मैं औक़ात में रहूँ।

सारा ब्राम्हॉंन्ड झुकता हैं जिसके शरण में,
मेरा प्रणाम हैं उन महाकाल के चरण में।

किसी ने मुझसे कहा इतने ख़ूबसूरत नहीं हो तुम,
मैंने कहा महाकाल के भक्त खूंखार ही अच्छे लगते हैं।

काल का भी उस पर क्या आघात हो,
जिस बंदे पर महाकाल का हाथ हो।

नही पता कौन हूँ मैं और कहा मुझे जाना हैं,
महादेव ही मेरी मँजिल हैं और महाकाल का दर ही मेरा ठिकाना हैं।

जैसे हनुमानजी के सीने में तुमको सियापति श्री राम मिलेंगे
सीना चीर के देखो मेरा तुमको बाबा महाकाल मिलेंगे।

आँधी तूफान से वो डरते हैं, जिनके मन में प्राण बसते हैं,
वो मौत देखकर भी हँसते हैं, जिनके मन में महाकाल बसते हैं।

खौफ फैला देना नाम का,
कोई पुछे तो कह देना, भक्त लौट आया हैं महाकाल का।

इतना ना सजा करो मेरे महाकाल आपको नज़र लग जायेगी
और उस मिर्ची की क्या औकात जो आपकी नज़र उतार पाएगी।

भागना मत मौत से एक एहसान चढ़ा देगी
जीवन के बाद म्रत्यु तुझे महादेव से मिला देगी ।।

खुल चुका हैं नेत्र तीसरा, शिव शंभू त्रिकाल का,
इस कलयुग में वो ही बचेगा, जो भक्त हो महाकाल का।

हिन्दूगिरी के बादशाह हैं हम तलवार हमारी रानी हैं
दादागिरी तो करते ही हैं, बाकी महाकाल की मेहरबानी हैं।

ये कैसी घटा छाई हैं, हवा में नई सुर्खी आई हैं,
फैली हैं जो सुगंध हवा में, जरूर महादेव ने चिलम जलाई हैं।

दुःख की घड़ी उसे डरा नही सकती,
कोई ताकत उसे हरा नही सकती,
और जिस पर हो जाये तेरी मेहर मेरे #महादेव‬
फिर ये ‪दुनिया‬ उसे मिटा नही सकती..! जय महाकाल

मेने #तेरानाम लेके ही हर काम किया है #मेरेभोलेनाथ
और लोग समझते है कि बंदा किस्मत वाला है..!

मै योग निद्रां मे शम्भु हु…..
निद्रां के बहार शंकर…..
और जाग गया तो रुद्र हु..!

जहाँ पर आकर लोगों की #नवाबी ख़त्म हो जाती है,
बस वहीं से #महाकाल के #दीवानों की #बादशाही शुरू होती है..!

अकाल मौत वो मरे,
जो काम करे चंडाल का..!
काल भी उसका क्या बिगाड़े,
जो भकत हो #महाकाल का..!

नजर पड़ी #महाकाल की मुझ पर तब जाके ये संसार मिला, बड़े ही #भाग्यशाली #शिवप्रेमी है हम जो #महाकाल का #प्यारमिला..!

कोई कितनी कोशिश कर ले कुछ नही #बिगाड़ सकता माई का लाल कियौकि जिसके हम #+बालक है नाम है #महाकाल..!

ना गिनकर देता हैं, ना तोलकर देता हैं,
जब भी मेरा महाकाल देता हैं, दिल खोल कर देता हैं।

हम महाकाल नाम की शमा के छोटे से परवाने हैं,
कहने वाले कुछ भी कहे हम तो महाकाल के दिवाने हैं।

कर्ता करे न कर सकै, शिव करै सो होय,
तीन लोक नौ खंड में, महाकाल से बड़ा न कोजय श्री महाकाल।

मैं चूम लू मौत को अगर मेरी एक प्रार्थना वो स्वीकारती हो,
बस मेरी चिता की राख से बाबा महाकाल भस्मा आरती हो।

अकाल मौत वो मरे, जो काम करे चंडाल का,
काल भी उसका क्या बिगाड़े, जो भक्त हो महाकाल का।

क्या करूँगा मैं अमीर बन कर,
मेरा ‪महाकाल तो ‪फकीर‬ का दीवाना हैं।

महाँकाल का नारा लगा के, दुनिया में हम छा गये,
दुश्मन भी छुपकर बोले वो देखो महाँकाल का भक्त आ गया।

करूँ क्यों फ़िक्र की मौत के बाद जगह कहाँ मिलेगी,
जहाँ होगी मेरे महादेव की महफिल मेरी रूह वहाँ मिलेगी।

मैं सुल्तान नही हूँ, जो पिट पिट कर WINNER बनु,
मैं महाकाल का भक्त हूँ, एक ही बार में स्वाहा करू।

कोई मुझसे मेरा सब कुछ छीन सकता हैं,
पर महाकाल की दीवानगी, मुझसे कोई नही छीन सकता।

तू राजा की राजदुलॉरी, मैं सिर्फ़ लंगोटे आला सु,
भंग रगड़ क पिया करूँ मैं ख़ाली सोटे आला सु।

वो लम्हा मेरी ज़िन्दगी का बड़ा अनमोल होता हैं,
जब मेरे महाकाल की बातें यादें और माहौल होता हैं।

हम महादेव के दिवाने हैं, तान के सीना चलते हैं,
ये महादेव का जंगल हैं, जहाँ शेर करते दंगल हैं।

जब भी मैं अपने बुरे हालातो से घबराता हूँ,
तब मेरे महाकाल की आवाज आती हैं, रूक मैं अभी आता हूँ।

महाकाल नाम की चाबी ऐसी जो हर ताले को खोले,
काम बनेंगें उसके सारे जो “जय महाकाल” बोले।

चल रहा हूँ धूप में तो महाकाल तेरी छाया हैं,
शरण हैं तेरी सच्ची बाकी तो सब मोह माया हैं।

महाकाल वो हस्ती हैं, जिससे मिलने को दुनियाँ तरसती हैं,
और हम उसी महेफिल में रोज बैठा करते हैं।

जब मुझे यकीन हैं के महादेव मेरे साथ हैं,
तो इस से कोई फर्क नहीं पड़ता के कौन मेरे खिलाफ हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *