Categories
Uncategorized

Love Status

Love Status! Hi friends, I have collected some new Love Status. Love Status has been published. So check it and share it with your friends.

कोई मिले इस तरह कि फिर जुदा न हो,
समझे मेरा मिजाज और कभी नाराज़ न हो,
अपने एहसास से बाँट ले सारी तन्हाई मेरी,
इतनी मोहाब्बत दे जो पहले किसी ने किसी की न हो।

तुझे ख़्वाबों में पाकर दिल का क़रार खो ही जाता है,
मैं जितना रोकूँ ख़ुद को तुझसे प्यार हो ही जाता है।

काश ! दिलो का भी कोई चुनावी मौसम आता,
ज़ज्बातों के गड्ढे पाँच साल में ही सही, भर तो जाते।

काश तुम पूछो के तुम मेरे क्या लगते हो,
मै गले लगाऊँ और कहू…सब कुछ।

ये किसका ख्याल कौन सी खुशबू सता रहीं हैं दिल को,
ये जो करार दिल में है… कहीं ये मोहोब्बत तो नहीं।

कितना प्यार है तुमसे, वो लफ्ज़ों के सहारे कैसे बताऊँ,
महसूस कर मेरे एहसास को, अब गवाही कहाँ से लाऊँ।

चलेगा मुकद्दमा आसमान में सब आशिकों पर,
जिसे देखो अपने महबूब को चाँद जो बताता है।

लफ़्ज़ों के इत्तेफाक़ में, यूँ बदलाव करके देख,
तू देख कर न मुस्कुरा, बस मुस्कुरा के देख।

तेरा इश्क़ ही है मेरी बंदगी, मुझे और कुछ तो खबर नहीं,
तुझे देख कर देखूँ और कहीं, अब मेरे पास वो नज़र नहीं।

इश्क़ कर लीजिये बेइंतेहा किताबों से,
एक यही हैं जो अपनी बातों से पलटा नहीं करतीं।

यूँ तो तमन्ना दिल में ना थी लेकिन,
ना जाने तुझे देखकर क्यों आशिक बन बैठे।

क्या मज़ा देती है बिजली की चमक मुझ को,
मुझ से लिपटे हैं मेरे ही नाम से डरने वाले।

आये जब वो सामने तो अज़ब तमाशा हुआ,
हर शिकायत ने जैसे ख़ुदकुशी कर ली।

मैं ख्वाहिश बन जाऊँ और तू रूह की तलब,
बस यूँ ही जी लेंगे दोनों मोहब्बत बनकर।

झूठ कहते हैं कि मोहब्बत आँखों से शुरू होती है,
दिल तो वो भी चुरा लेते हैं जो नजरें नहीं उठाते।

तेरे ही क़दमों में मरना भी और जीना भी,
तेरा प्यार है दरिया भी और सफ़ीना भी,
मेरी नज़र में तो अब सब बराबर हैं,
मेरे लिए तो तू ही है काशी तू ही मदीना भी।

तेरी एक मुस्कान से सुधर गयी तबियत मेरी,
बताओ यार इश्क करते हो या इलाज करते हो।

मुझ जैसा कोई दुनिया में नादान भी न हो,
कर के जो इश्क कहता है नुकसान भी न हो।

उनकी बुरी आदत है मेरे बाल बिगाड़े रखना,
उनकी कोशिश है किसी और को अच्छा न लगूँ।

पहली मोहब्बत थी और ये जान न सके,
ये प्यार क्या होता है हम पहचान न सके,
हमने उन्हें दिल में बसाया है इस कदर,
दिल से निकालना चाहा तो निकाल न सके।

आँखों के सामने हर पल तुमको पाया है,
अपने दिल में सिर्फ तुमको ही बसाया है,
तुम्हारे बिना हम जिये भी तो कैसे,
भला जान के बिना भी कोई जी पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *