Categories
Uncategorized

Garhwali Funny Jokes

Garhwali Funny Jokes! Hi friends, I have collected some new Garhwali Funny Jokes. Garhwali Funny Jokes has been published. So check the latest Garhwali Funny Jokes and share it with your lovely friends. Read it and enjoy it.so you can hare it with your all lovely friends. Its give smile and happiness to everyone face. Laughter is the way to make smile on everyone’ s face. Laughter is the best medicine for our health.
Share kro jisse aap baat krte ho or jisse nhi krte…

Garhwali Funny Jokes

दादी पोती का एक पहाड़ी संवाद…..
गर्मियों की छुट्टियों मा पोती Delhi बिटी की अपणांं Tehri gadwal गौं गैई त वख एक दादीन पूछी:
दादी:- हे बबा, तु तैं दिल्ली मा क्य छै करनी,अजकालु?
नतेण:- दादी मी नर्सिंग कु कोर्स छौं करनु।
दादी गुस्सा मा:- कनु बिजोक पडी बबा, ए जमाना मुंद, देवी देवतों कु भी कोर्स कर्न लग्यां छन मनखी।
पर हे निर्भेगी, अगर त्वै तै करन कु वास्ता सिर्फ ई कोर्स रैगि छौ त तु कैं काली माता ,भगवती कू कोर्स करदी। नरसिगौं कोर्स किलै पकडी तिन ?……। नरसिंग त सिर्फ बैखु पर आन्दु, जनान्यों पर नि आन्दु……….।

Dehradun पुलिस वाले ने मुझे रोक लिया,
क्योंकि मैंने हेलमेट नहीं पहना था।
पुलिसवाले ने गाड़ी से चाभी निकाली
और बोला,आ जाओ मेरे पीछे-पीछे।’
हम तो ठहरे Gairsain वाले फिर क्या?
हमने जेब से दूसरी चाबी
निकाली,
गाड़ी स्टार्ट कर के हमने पुलिस वाले से कहा,
अब तू आजा हमारे पीछे पीछे-…दबंगो का Sehar है Gairsain
Gairsain के हो तो फैला दो हर ग्रुप में…. ☆

कोदे की रोटी कंडाली का साग
बांज की लकड़ी करारी आग
चौमासा की बरखा ह्युन्द की आग
मुंगरी की रोटी पिंडालू कु साग
आषाढ़ की रोपणी भादो कु घाम
सौण की बरखा अशूज कु काम
ह्युन्द की मैना की लम्बी लम्बी रात
आहा कन छा आपडा गौं की बात
देव भूमि
रीति रिवाज
मेरी जन्मभूमि उत्तराखंड

Garhwali call center : बोडी मि बोडाफोन बटी बुनू छॉ
बोडी : अरे लाटा तू बोडा कु फोन बटी बुनी छैं अर यख सुबेर बटी तयार बोडा फोन खुजाणू च।

उत्तराखंड में पलायन के लिए
आज से लगभग
बीस -पच्चीस साल पहले की वे औरतें भी ज़िम्मेदार हैं,
जो ज़रा -ज़रा सी बात पर अड़ोसियों -पड़ोसियों को
डायरेक्ट
“तेरि कुड़ि बाँजि होली ” वाली गालियाँ देती थी |

एक बार एक आदमी चिड़ियाघर में जाता है एक तोते के बाहर लिखा था
” ये हिन्दी , ईंगलिश और गढ़वाली भाषा में बोलने वाला तोता “
आदमी ने इस बात को टेस्ट करने के लिए तोता से पहले ईंगलिश में पूछा –
” Who are you ” ( हु आर यू )
तोता – I am parrot (आई एम पैरॉट )
आदमी – (हिन्दी में) तुम कौन हो ?
तोता – मै एक तोता हूँ ।
आदमी – (इस बार गढ़वाली में) तुं कु छे रै ??
तोता – मी तयार बुबबा . . . .कमीणा साळा, तेथे मीन दुइ बार बतायल, तेर समझम नी आणि च। सुंगरुक नोनु साला

मास्टर जी का प्रश्न : लू कितने प्रकार की होती है
पहाड़ी स्टूडेंट : गुरूजी लू तो बिजां प्रकार की होती हैं
औ-लू , जा-लू , खा-लू , पी-लू , देख-लू , नाच-लू , पढ़-लू , हेंस-लू , म-लू
😛 🙄 😀
katrina – why are you staring at me ..?
man – kat miar dagar biya karli ..?
kat– sorry i don’t understand garhwali.
man– kat will you marry me ..?katrina – kamina holu , ullu kapatha teyar kapal phod dyn meen.
😛 🙄 😀
बच्चे को सुलाती माँ-
अंग्रेज- Good night son
देशी माँ – सो जाओ बेटा, शुभ रात्रि
गढ़वाली माँ- सैजा रे नैहुन्या… आब त भूत ले सी गै हुनेला.

एक लड़का शादी के लिये गांव की सीधी-सादी लड़की देखने गया.
लड़की – दाज्यू! तुमार कतुक भै-बैंणि छन
लड़का – ऐल तक एक भाया एक बैंणि छ्यां, आब एक बैंणि आजि हैगे

रामजी की चिट्ठी सीता ते.
मेरी प्यारी सीता तु कन छे ?
मेंते तेरी याद ओणी चा !
अच्छा सुण मेरा त्वेते हनुमान बादर मा काफल दिया छान.
गिण ले अगर एक भी काफल कम होलू ता वे बांदर पूछड़ी माँ आग लगे दे !
अर वे रावण तै बोली दे क़ि मेर आदमींन तू ख़तम कन
सीता मेरी रिफिल खतम होणी चा !
आपरू ध्यान रखी !
‘ तेरु राम ‘
घनघोर जगल बिटि .

एक Education Officer पहाडक स्कूल में एक छात्र थैं :
EO – बताओ संज्ञा को english में क्या कहते हैं?
छात्र – डरन डरने…. मास्सैब ना ऊन !!
EO – very good बैठ जाओ………..शाबाश!!!!!!!!

वाइफ के गाल पर गुलाब का फूल मारने पर
इंग्लिश वाइफ :-
u are so noughty…..
पंजाबी वाइफ :-
“तुसी वड़े रोमेंटिक लगदे हो …..
गढ़वाली वाइफ :-
मुर्दा मोरुलु तेरु…आंखू फोड़ेली छौ मेरु ..

Read Pahari Jokes
टीचर > हे गबरा क नौना ! बता उत्तराखंड में कतका बाँध छिना ?
स्टुडेंट > गुरूजी… एक तो च छकना बांद , दुसर बांद Furki Baand, तीसरी च माया बांद

मास्टर जी : हाँ रे मंगतू…!!
त्येरा सिर्फ 5 नंबर छन आयां का अर तू फिर भी हेसण लग्युं च….!! किले रे…!!
मंगुतु : मासाब… मी त यी बात सोची छुं हेसणु की यी 5 भी कन म ऐन… 🙂

न वफ़ा का जिकर होगा, न वफ़ा की बात होगी
अब महोब्बत जिससे भी होगी, रोपणियों के बाद होगी

4 कु चमत्कार हम पहाड़ियों का जीवन मा…
४ दिने की चांदिना… फिर अँधेरी रात….
४ किताब क्या पढलीन…अफ्फु ते बडू लाट साब च समझणु…
४ पैसा कमोंण पडला… तब पता चलू….
४ लोगों का समणी… नाक न कटे हमरी…
४ लोग यी बात सुणला… त क्या बोल्ला…

कोई शहरी मित्र अगर गढ़वाली में कमेंट करे तो उसपे लोग रिप्लाई करते…
“वाह भोत बढ़िया… जय उत्तराखंड”मैं अगर कभी English में कुछ लिखता हूँ तो…!!“अरे भुला त्वे पर भी दिल्ली हवा लगी रे”

उत्तराखंड में पलायन के लि
आज से लगभग
बीस -पच्चीस साल पहले की वे औरतें भी ज़िम्मेदार हैं,
जो ज़रा -ज़रा सी बात पर अड़ोसियों -पड़ोसियों को
डायरेक्ट
“तेरि कुड़ि बाँजि होली ” वाली गालियाँ देती थी |

भाई साहब हम पहाड़ियों में लड़ाईयों के भी प्रकार(category)है ।
1-फतोड़ा-फतोड़ ,2-मारा-मार। 3-काटा-काट 4-धदोड़ा-धदोड़ 5-थेचा-थेच ???????

कुमाउनी में कुछ हिंदी फिल्मो के शीर्षक :
१. TITANIC – नाव फरकि गे
२. Anaconda – आदिम खाणी वाल स्याप
३. आवारा पगला दीवाना – पगली गियो साल
४. देवदास- शरबिया
५. अजब प्रेम की गजब कहानी – अन्कस प्यार क क्याप कहानी
६. मै हूँ ना – मी छियो ना
७. कुछ कुछ होता है – क्याप क्याप हु छ
८. धड़कन – धक् धक्काट
९. दंगल – थेचा-थेच
१०. एक था टाइगर – एक छो बाघ

मार्टिन लूथर किंग ने कहा
”अगर तुम उड़ नहीं सकते तो, दौड़ो !
अगर तुम दौड़ नहीं सकते तो,…चलो !
अगर तुम चल नहीं सकते तो,……रेंगो !
पर आगे बढ़ते रहो !”
तभी एक उत्तराखंडी ने बीड़ी बुझाते हुऐ कहा :-
वो सब तो ठीक है,
पर
जाण का छू????*

Master:- 2 mein se 2 gye kitne rhe ?
Monu: Samaj me nahi aya
Master: Gadwali mein beta teema dui roti chan, tin dui roti khai deen. te ma kya bachi?
Monu: Bhuji..

खिमुली – य जो रोज तुम फैसबुक में रोमांटिक शायरी लिखछा कि,
ये तेरी जुल्फे है जैसे की रेशम की डोर , ?
य कैक लिजी लिखछा ?
खीमदा – त्यर लीजी तो लिखनू मै लाटी ! और को भै मेरि जिंदगी में….???
खिमुली – पै कभते त रेशमे डोर अगर हरि साग में ए जाछि तो किले चिल्लाछा हो ! 🙂 🙂 🙂

खिमदा आजकल गौं छौड़बेर दिल्ली में रौनी…..
एक दिन खिमदा सोच में डूबी भै,
घरवाईल पूछा …….क्ये सोच में पड़ी रछा ?
खिम दा- मैं कें यो सोच लाग रईं कि यौ टेलीबिजन वालूँ कैं कसिक पत्त चलिजां कि…..
घरवाई- क्ये पत्त चलूँ ?
खिम दा- यौ कौनी कि आप देख रहे हैं स्टार प्लस …
इनूं कैं कसिक पत्त चलूँ, हम स्टार प्लस चैनल देखण लाग रयूं

मरणैक टैम पर परदाल सोचि खिमुलि कै सच्चाई बतै द्यु पर के करछा परदा कै मरणैक टैम अणकस्से जै है पड़ो…
परदा :- सुण वे त्येर सुनैक जेवर मिल बेचि !
खिमुलि :- कोई बात ने हो !
परदा :- त्येर भैक दि एक लाख रूपै ले मिलै गायब करि !
खिमुलि :- मिल तुमकु माफ करि है .तुम लै माफ करि दिया, तुमकु जहर लै मिलै दे !!

मैं तो स्मार्ट फोन को उस दिन स्मार्ट मानूंगा,…..
जब मैं चिल्लाऊंगा-
काँ छै रे म्यर फोन….?
और मेरा फोन आवाज लगायेगा—
याई छु रे …. याई छु…. तकीये तली बै देख।
रणकारा कभै तो आराम करन दे मैंकैनी !!

कुमाऊंनी महिला का अपने पति के लिए डरावना स्टेटस….
“मी तुमुकै भौते प्यार करनू पर ध्यान धरिया-
म्यर विश्वास और तुमार भांट एक्के दिन टुटाल”

एक पहाड़ी ने चीन में चाय की दुकान खोली और उसका नाम रखा: “पहाड़ी टी स्टाल“..।
दुकान ज्यादा दिनों तक नहीं चली,
तो किसी ने सलाह दी कि अगर चीन में तरक्की करनी है तो दुकान का नाम भी चाइनीज में ही रखो।
अब उसकी दुकान अच्छी चल रही है क्योंकि दुकान का नाम रखा है:
“ताती ताती चा फू फू करके पी”

बाज्यू ने हरूवा को बिजली बिल भरने के लिए रुपये दिए..लेकिन हरूवा उन पैसों की लाटरी खेल आया…
जब घर आया तो बाब ने पूछा! बिल भर आया रे हरूवा? हरूवा ने डर-डर के बोला, बाबू मैंने पैसे की लाटरी की टिकट खरीद ली! और हम लाटरी मैं गाड़ी जीत सकते है…
बहुत कूटा, हरूवा का टीटाट पड़ गया और हरूवा सोने चला गया…
लेकिन अगले दिन जब पापा ने सुबह दरवाजा खोला…
तो सामने एक नयी Mahindra Bolero गाडी खड़ी थी…
सब की आँखों में आंसू थे!
लेकिन सबसे ज्यादा डाड़ हरूवा मार रहा था!😭
क्योंकि…
वो गाडी बिजली विभाग की थी…वो घर की लाइन काटने आए थे…
बाज्यू ने फिर दमोरा साले को!
बाखई में हँसत-हँसते सबके बिडौव हो गये!

स्वर्ग मेँ पहुँचते ही भगवान ने उसकी रुह को सीने से लगा लिया
और बोले
“पगले मैँने तुझे जिँदगी जीने के लिये जमीन पर भेजा था
और तू इसे उत्तराखण्ड “समूह ग ” की तैयारी मेँ खत्म कर आया!!!!!!

मजाक कने भी हद होन्दी यार
मी एक नौनी दगड छो बेठ्यूं
बड़ी मुश्किल से बात बणाई छे…
यो कमीना दोस्त आई अर ब्वन लगी
न भे ब्याली वाली बिजा स्वाणी छे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *